युवा आदिवासी विकास संगठन आठनेर ने निकाला विशाल जुलुस नेमावर हत्याकांड के आरोपियों को फांसी की मांग |



Photography and Image Editing:- Gondwana Production


आठनेर:- युवा आदिवासी विकास संगठन आठनेर ने आठनेर शहर मे नेमावर हत्याकांड के विरोध मे विशाल जुलुस निकाल कर विरोध प्रकट किया,संगठन ने तहसीलदार को राज्यपाल,मुख़्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपकर नेमावर मे आदिवासी समुदाय के पांच सदस्यों की निर्मम हत्या के आरोपियों को फांसी देने मांग की है, ज्ञापन के माध्यम से युवा आदिवासी विकास संगठन बैतूल संरक्षक,जनपद अध्यक्ष रामचरण इरपाचे ने बताया की विगत कुछ दिनों पूर्व देवास जिले के नेमावर मे एक ही आदिवासी परिवार के पांच लोगो की निर्मम हत्या की गई,उसमे सभी बालिकाओं के साथ बलत्कार करके जेसीबी के मदद से 10 फिट गहरे गड्डे मे गाड़ दिया गया था, घटना मे लिप्त सभी आरोपियों को सिर्फ फांसी की सजा दी जाये, वही ब्लॉक अध्यक्ष जयचंद सरियाम ने बताया की आदिवासी युवतियों के गैर आदिवासीयों से प्रेम प्रसंग के बढ़ते मामले चिंता का विषय है, जिन्होंने आज तक ऐसा कदम उढाया निश्चित ही मौत, बत से बतर जिंदगी उनकी देखने को मिली है, गैर आदिवासी सिर्फ स्वार्थ के माध्यम से या युवती की जमीन हड़पने, या उसके नाम पर जमीन खरीदना के स्वार्थ से प्रेम का नाटक कर युवतियों का शारीरिक शोषण करता है, काम निकल जाने पर उसे आत्महत्या की विवस करता है, अगर युवती नहीं मानती है तो नेमावर जैसे हत्याकांड का सहारा लेते है, कार्यवाह अध्यक्ष सुभास उइके ने बताया की नेमावर की घटना आदिवासी समाज के लिए आइना है, संगठन प्रशासन से मांग करता है की पीड़ित परिवार को 25 लाख रूपये प्रति व्यक्ति छति के हिसाब से 1 करोड़ 25 लाख रूपये और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाये, साथ ही सीबीआई जाँच की मांग की गई, वही श्री उइके द्वारा प्रशासन की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाये गये, मृतक बहनो की बड़ी बहन ने 17 मई को नेमावर थाने मे सुचना दी थी, जिसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी,मृतको की गुमशुदगी के 47 दिनों बाद सन्धिगद सुरेंद्र चौहान और उनके साथियो से पूछताछ स्थानीय प्रशासन की कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह लगता है, वही साक्ष्य को नमक, यूरिया डालकर छिपाने का प्रयास, युवतियों के शरीर पर कपड़े का न होना, वही राजनीतिक हस्तक्षेप से संदिग्ध को छुड़वाया जाना इस घटना मे सम्मिलित मानस एवं उन्हें प्राप्त संरक्षण को स्पष्ट दर्शाता है, ज्ञापन के माध्यम से निष्पक्ष सीबीआई जांच की मांग करते हुये, पीड़ित परिवार को सुरक्षा देने की मांग की है, जिसमे मुख्यरूप से संरक्षक रामचरण इरपाचे, अध्यक्ष जयचंद सरियाम, कार्यवाहक अध्यक्ष सुभाष उइके,यू.आ. वि.जिला अध्यक्ष राजेश धुर्वे, ब्लाक उपाध्यक्ष जयरावन आहाके



ब्लाक सचिव आनन्द धुर्वे, सहसचिव कैलाश इवने, #जयस जिला अध्यक्ष संदीप धुर्वे, जयस महामंत्री सुनील करोची, धनराज उयके, बीकेडी प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार कवड़े, पुर्व सांसद प्रत्याशी रामू टेकाम, म. प्र.आ.वि. परिषद् जिला अध्यक्ष मुन्नलाला वाड़िवा, कोषाध्यक्ष रामकुमार कुमरे, युवाआदिवासी विकास संगठन प्रभात पट्टन सूर्यभान कवड़े,अविनाश कुमरे, युवा आदिवासी विकास संगठन भैंसदेही नंदू आहाके, नंदू उइके, बबलू धुर्वे, मुलताई भीमसेना अध्यक्ष प्रमोद बरवाहे ,महिला प्रकोष्ठ संघटन आठनेर अध्यक्ष सीमा मरोपे, शारदा सरीयाम , जयवंती इडपाचे, मनोती धुर्वे,कमल धुर्वे मिडिया प्रभारी आठनेर, सतीश इवने बागवानी, नीलेश धुर्वे चारघाटी बीकेडी ब्लाक अध्यक्ष एवं समस्त सामाजिक संगठन बेतुल, भैसदेही,आमला, घोड़ाडोंगरी, मुलताई,चिचोली, शाहपुर, पट्टन,से कार्यकर्ता उपस्थित होकर देवास जिले के नेमावर में कास्ते परिवार को न्याय दिलाने के लिए आवाज उठाई युवा आदिवासी विकास संगठन आठनेर ने आठनेर शहर मे नेमावर हत्याकांड के विरोध मे विशाल जुलुस निकाल कर विरोध प्रकट किया,संगठन ने तहसीलदार को महामहिम राज्यपाल, माननीय मुख़्यमंत्री जी के नाम ज्ञापन सौपकर नेमावर मे आदिवासी समुदाय के पांच सदस्यों की निर्मम हत्या के आरोपियों को फांसी देने मांग की है।

नेमावर हत्याकांड के आरोपियों महापापियों को फास्टट्रैक्ट कोर्ट द्वारा जल्द से जल्द दोषियों को फांसी की मांग। एक महीने के भीतर दोषियों को फांसी नहीं होती है आदिवासी समाज पूरे देश में उग्रआदोलान किया जाएगा और साथ मध्य प्रदेश विधानसभा का घेराव किया जाएगा जिसकी पूरी जिममेदारी शासन प्रशासन कि होंगी।


344 views0 comments